शुक्रवार, जून 26, 2020

भारती एयरटेल 190 करोड़ की गैस सब्सिडी खाताधारकों को करेगा वापस

Must Read

भारत-चीन विवाद पर प्रधानमंत्री मोदी ने बुलाई सभी पार्टियों की बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के साथ सीमा संघर्ष पर शुक्रवार को एक सर्वदलीय बैठक को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने...

चीन का तिब्बत प्लान और सीमा पर भारत द्वारा निर्माण कार्य – जानें भारत-चीन झड़प के संभावित कारण

विश्लेषकों का कहना है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास चीन (China) की भारी टुकड़ी के जमा होने...

लद्दाख: भारत चीन सीमा पर दोनों सेनाओं में झड़प, तीन भारतीय सैनिक शहीद

भारत चीन (China) सीमा पर कल रात हुई हिंसक झड़प में एक अफसर और दो सैनिकों सहित कुल तीन...
पंकज सिंह चौहान
पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

हाल ही में भारती एयरटेल और एयरटेल पेमेंट बैंक एक विवाद में फंस गए थे जिसमे कंपनी पर आरोप लगा था कि उन्होंने करीबन 31 लाख एयरटेल ग्राहकों की एलपीजी गैस सब्सिडी को ग्राहकों से बिना पूछे उनके एयरटेल पेमेंट बैंक के खाते में डाल दिए थे। अब हालाँकि सूत्रों से पता चला है कि कंपनी ग्राहकों के कुल 190 करोड़ रूपए लौटाने को राजी हो गयी है।

एयरटेल नें आज राष्ट्रिय भुगतान केंद्र यानी एनपीसीआई को लिखकर कहा है कि वे सभी ग्राहकों के पैसे उनके निजी खाते में वापस डाल देंगे। आपको बता दें कि कुल राशी 167 करोड़ निर्धारित की गयी थी, लेकिन इसपर ब्याज लगाकर यह अब 190 करोड़ हो गयी है। एनपीसीआई पुरे देश के लिए एक ऐसी संस्था है जो सभी तरह के खुदरा भुगतान के लिए जिम्मेदार होती है।

क्या है पूरा मामला?

दरअसल हाल ही में यह मामला सामने आया था कि एयरटेल नें अपने करोड़ों ग्राहकों के एयरटेल पेमेंट बैंक में खाते खोल दिए हैं और उन ग्राहकों को इसकी खबर भी नहीं है। इसके बाद यह सुचना सामने आई कि उन ग्राहकों कें करोड़ों रूपए की गैस सब्सिडी को उनसे बिना पूछे उनके एयरटेल पेमेंट खाते में डाल दिए हैं।

आपको बता दें कि एलपीजी गैस खरीदने पर सरकार हर महीनें ग्राहकों को कुछ सब्सिडी देती है जो उनके निजी खातों में सीधे जमा की जाती है। इस बार हालाँकि एयरटेल पेमेंट बैंक नें एयरटेल ग्राहकों की सब्सिडी को उन्हें बिना बताये उनके खाते में डाल दिया।

जैसे ही यह मामला रोशनी में आया, लोगों नें एयरटेल के खिलाफ मुकदमा जारी कर दिया। इसपर सरकार नें तुरंत कार्यवाई की और भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (युआईडीएआई) नें एयरटेल पर यह प्रतिबन्ध लगा दिया कि वे कुछ समय के लिए ग्राहकों के आधार से सिम को नहीं जांच पाएंगे।

एयरटेल के ‘आधार लाइसेंस’ को रद्द करते हुए युआईडीऐआई ने भारती एयरटेल और एयरटेल पेमेंट बैंक के ऑडिट करने के आदेश दिए थे जिससे यह पता लगाया जा सके कि कंपनी कानून के हिसाब से व्यापार कर रही है या नहीं।

गैस सब्सिडी एयरटेल पेमेंट बैंक में जमा करने की खबर जैसी ही गैस कंपनियों को पता चली तो उन्होंने तुरंत ही सुनील मित्तल (भारती एयरटेल के मालिक) को लिखकर यह कहा कि वे जल्द से जल्द ग्राहकों के पैसे लौटायें। हिंदुस्तान पेट्रोलियम नें इस मामले में एयरटेल को कहा कि वे या तो इस सब्सिडी को ग्राहकों के निजी खाते में डालें या फिर इसे वापस गैस कंपनियों को लौटा दें।

इस बारे में एक सरकारी अधिकारी ने बताया, “सरकार नें इस पुरे मामले की गहनता से जांच की है और एयरटेल पर दबाव बनाया गया है कि वे जल्द से जल्द ग्राहकों के पैसे लोटायें।”

 

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

भारत-चीन विवाद पर प्रधानमंत्री मोदी ने बुलाई सभी पार्टियों की बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के साथ सीमा संघर्ष पर शुक्रवार को एक सर्वदलीय बैठक को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने...

चीन का तिब्बत प्लान और सीमा पर भारत द्वारा निर्माण कार्य – जानें भारत-चीन झड़प के संभावित कारण

विश्लेषकों का कहना है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास चीन (China) की भारी टुकड़ी के जमा होने के पीछे कई कारण हो...

लद्दाख: भारत चीन सीमा पर दोनों सेनाओं में झड़प, तीन भारतीय सैनिक शहीद

भारत चीन (China) सीमा पर कल रात हुई हिंसक झड़प में एक अफसर और दो सैनिकों सहित कुल तीन लोग शहीद हो गए हैं।...

कोरोनावायरस अपडेट: महाराष्ट्र में मामले 1 लाख के करीब, स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराई

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के तेजी से बढ़ते मामलों में महाराष्ट्र राज्य सबसे आगे है। राज्य में कल सिर्फ एक दिन में 3,607 नए...

कोरोनावायरस: भारत में आंकड़ा 2.5 लाख के पार, एक दिन में 10,000 नए मामले

भारत में COVID-19 से संक्रमित लोगों की टैली तेजी से बढ़ रही है। संक्रमण की कुल संख्या दो लाख से 2.5 लाख तक पहुंचने...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -