राष्ट्र्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप: खिताबी मुकाबले में आमने-सामने होंगी पीवी सिंधु और साइना नेहवाल

साइना, पीवी सिंधु

पीवी सिंधु और साइना नेहवाल ने शुक्रवार को 83वी सीनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप के सेमीफाइनल मुकाबले में अपना-अपना मैच जीतकर फाइनल में अपनी जगह पक्की की। लेकिन इससे अच्छी बात यह है कि अब फाइनल मुकाबले में यह दोनो स्टार खिलाड़ी शनिवार को आमने-सामने होगी। इससे पहले पिछले सीजन में भी यह दोनो खिलाड़ी आमने-सामने थी और यह रोमांचक मुकाबला दोबारा देखने को मिला।

सिंधु ने पहले सेमीफाइनल मैच में असम की 19 वर्षीय खिलाड़ी अश्मिता चालिहा को 21-10, 22-10 से मात देकर फाइनल में अपनी जगह पक्की की। वही दूसरी ओर साइना ने वैष्णवी भाले को 21-15 और 21-14 से मात देकर फाइनल में एक रोमांचक मैच की नींव रखी।

साइना इससे पहले साल 2017 में नागपुर नेशनल और गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलो में सिंधु से भिड़ी थी। जहां सिंधु को दोनो ही मैच में हार का मुंह देखना पड़ा था लेकिन इस बार सिंधु इसका बदला लेने कोर्ट में उतरेगी।

साइना अबतक यह खिताब 2006, 2007 और 2018 में अपने नाम कर चुकी है जबकि सिंधु ने यह ट्रॉफी 2011 और 2013 में दो बार अपने नाम की है।

सिंधु ने फाइनल मैच के बारे में कहा, ” मैं इसे उन्ही मैचो की तरह लूंगी जैसे लेती हूं और मुझे नही लगता कि इससे मुझे ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में कोई मदद मिलेगी, मैं बस ध्यान केंद्रित कर रहीं हू और अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहती हूं।”

पुरुष एकल में, लक्ष्य सेन, जो एक एशियाई जूनियर चैंपियन और विश्व जूनियर चैंपियनशिप में कांस्य पदक विजेता हैं, ने अपना दूसरा फाइनल पूर्व विजेता के रूप में 21-15 21-16 से जीता और दूसरे सेमीफाइनल में 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स चैंपियन पारुपल्ली कश्यप को मात दी।

17 साल के लक्ष्य सेन , जो उत्तराखंड के रहने वाले, उन्हें 81वें संस्करण में पिछली बार सौरव वर्मा से हार का सामना करना पड़ा था लेकिन इस बार वह स्कोर को बराबर करने के उतरेंगे जब शनिवार को 26 साल के धार के खिलाड़ी से फाइनल मुकाबले में उतरेंगे।

दो बार पूर्व चैंपियन रह चुके सौरव ने मुंबई के कौशल धर्मेंमर को 21-14, 21-17 से मात देकर 44 मिनट तक चले मुकाबले में जीत हासिल की।

दिन के अन्य सेमीफाइनल मैचों में, रोहन कपूर और कुहू गर्ग मिश्रित युगल में शीर्ष वरीय खिलाड़ी के रूप में अपनी प्रतिष्ठा बनाए हुए थे।

उन्होने विश्व की नंबर 46 जोड़ी विगनेश देवलकर और हरिका वी को 32 मिनट के खेल में 21-15 और 21-16 से मात दी। और मिश्रित युगल के फाइनल में जगह पक्की की।

मुहिला मिश्रित युगल में मेघना जक्कमपुडी और पूर्विशा एस राम ने खिताब के लिए अपनी जीत का सिलसिला जारी रखा और कुहू गर्ग और अनुष्का पारिख पर 21-13, 21-16 से मात देकर फाइनल में अपनी जगह पक्की की।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here