पाकिस्तान की आर्थिक मदद का खुलासा करने से चीन ने किया इनकार

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और चीनी राष्ट्रपति शी जिंगपिंग

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान चार दिवसीय चीनी यात्रा से वापस लौटे आये हैं। मीडिया अफवाहों के मुताबिक इमरान खान को चीन से खाली हाथ लौटना पड़ा था। चीन ने बुधवार को पाकिस्तान को दी जाने वाली आर्थिक मदद का खुलासा करने से इनकार कर दिया था। एक वरिष्ठ चीनी अधिकारी ने कहा था कि इमरान खान का यह दौरा बेहद सफल रहा है।

बिगड़तें आर्थिक हालातों को सुधारने के लिए इमरान खान चीन के दौरे पर गए थे। इस दौरे के दौरान उन्होंने चीनी राष्ट्रपति शी जिंगपिंग और चीनी प्रधानमंत्री ली केकिंग से मुलाकात की थी। पाकिस्तान के पीएम आर्थिक मंदी से उभरने के लिए चीनी सरकार से राहत पैकेज चाहते हैं।

इससे पूर्व पाकिस्तानी पीएम सऊदी अरब के दौरे पर गए थे। सऊदी अरब ने पाकिस्तान को 6 अरब डॉलर के राहत पैकेज देने का ऐलान किया था। खबरों के मुताबिक चीन ने भी इतनी राहत राशि देने का वादा किया था लेकिन चीन ने खुलासा करने से इनकार कर दिया था।

पाकिस्तान के वित्त मंत्री असद उमर ने कहा था कि चीन ने आर्थिक आपदा से निपटने के लिए उच्च स्तर की आर्थिक मदद करने का वादा किया था लेकिन राहत पैकेज की राशि बताने के मना कर दिया है।

पाकिस्तान के विदेशी प्रवक्ता ने बताया कि चीन पाकिस्तान को क्षमता के अनुसार अधिक आर्थिक मदद करेगा लेकिन अभी पैकेज का खुलासा नहीं करेगा। उन्होंने कहा पाकिस्तान चीन का हर दौर का साथी है और हमारे रिश्ते बेहद मजबूत है।

असद उमर के मुताबिक पाकिस्तान का 12 बिलियन डॉलर वित्तीय घाटा है। 6 बिलियन डालकर की मदद सऊदी अरब कर चुका है और शेष चीन करेगा।

इससे पूर्व पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के समक्ष आर्थिक मदद के लिए गया था। आईएमएफ ने शर्त रखी कि बैलआउट पैकेज के लिए पाकिस्तान को सीपीईसी परियोजना के कर्ज का खुलासा करने होगा। चीनी प्रवक्ता ने कहा कि इमरान खान के इस दौरे से दोनो राष्ट्रों के मध्य स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय संबंध मजबूत होंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here