रविवार, सितम्बर 22, 2019
Array

पंकज आडवाणी एशियन चैंपियनशिप से बाहर हुए

Must Read

विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप : पंघल के हाथ से स्वर्ण फिसला (राउंडअप)

एकातेरिनबर्ग, 21 सितंबर (आईएएनएस)। भारत के पुरुष मुक्केबाज अमित पंघल शनिवार को यहां जारी विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के 52...

कर्नाटक में उपचुनाव की घोषणा से बागी विधायकों को झटका

नई दिल्ली, 21 सितंबर (आईएएनएस)। निर्वाचन आयोग ने शनिवार को कर्नाटक में 21 अक्टूबर को उपचुनावों की घोषणा कर...

देहरादून शराब कांड में कोतवाल, चौकी इंचार्ज निलंबित

देहरादून, 21 सितंबर 2019 (आईएएनएस)। यहां जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले में शहर कोतवाल सहित दो पुलिस...
अंकुर पटवाल
अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

स्नूकर का खेल एक महान खेल है और इसके बारे में 21 बार के बिलियर्ड्स विश्व चैंपियन पंकज आडवाणी से बेहतर कोई और नही जानता। आडवाणी, गुरुवार को चल रहे एशियाई बिलियर्ड और स्नूकर चैम्पियनशिप के गत चैंपियन थाईलैंड के प्रपुट चैतनसकुन से 3-5 से पिछड़ने के बाद सेमीफाइनल से बाहर हो गए।

प्रपुट ने ऑफ-कलर आडवाणी का पूरा फायदा उठाया और जब भी वह चूक गए, उन्हें दंडित किया। पहले फ्रेम में, प्रपुट ने फ्रेम को छीन लिया जब भारतीय खिलाड़ी 98 पर थे, जिसे 1-0 से ऊपर जाने के लिए सिर्फ 2 अंक चाहिए थे। अगले फ्रेम में, बेंगलुरु के क्यूइस्ट ने स्कोर को समतल करने के लिए एक अधूरा 100 बनाया।

प्रपुट ने अगले दो फ्रेम जीते और 87 और 68 के ब्रेक से उनको जीता जिसके बाद वह 3-1 से आगे आ गए और जब आडवाणी पांचवे फ्रेम के लिए गए तो प्रपुट ने 3-2 से बढ़त बना ली।

हालाँकि, प्रपूट जानते था कि उनके पास मेट पर स्थानीय लड़के है और 101 ब्रेक के साथ उसे 4-2 से पीछे कर दिया। वह इतनी आसानी से हार मानने वाले नहीं, आडवाणी ने 102-03 जीतने के लिए सावधानी से खेलते हुए सातवें फ्रेम को पीछे छोड़ा और अंतर को 3-4 तक कम कर दिया।

जिसके बाद प्रशंसको को भारत के क्यू खिलाड़ी की खेलने में वापस लौटने की संभावना जगी, लेकिन वह अगले फ्रेम में अच्छा नही कर पाए और परपूट ने 5-3 से मुकाबला अपने नाम कर लिया।

दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में म्यांमार के दो हमवतन खिलाड़ी चिट को को और नेए थे ओओ आमने-सामने थे। नेए ने अपने हमवतन खिलाड़ी के ऊपर शानदार प्रदर्शन कर 5-3 से मुकाबला जीता। चित को को पूर्व चैंपियन सौरव कोठारी को बाहर करने के बाद, अपने आक्रामक प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ पिछली सीट लेने से पहले, पहले चार फ्रेमों में से तीन लेने से फले-फूले। 100 ब्रेक की जोड़ी बनाने के बाद नेय ने अगले चार फ्रेम जीते।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप : पंघल के हाथ से स्वर्ण फिसला (राउंडअप)

एकातेरिनबर्ग, 21 सितंबर (आईएएनएस)। भारत के पुरुष मुक्केबाज अमित पंघल शनिवार को यहां जारी विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के 52...

कर्नाटक में उपचुनाव की घोषणा से बागी विधायकों को झटका

नई दिल्ली, 21 सितंबर (आईएएनएस)। निर्वाचन आयोग ने शनिवार को कर्नाटक में 21 अक्टूबर को उपचुनावों की घोषणा कर दी है। इससे कांग्रेस और...

देहरादून शराब कांड में कोतवाल, चौकी इंचार्ज निलंबित

देहरादून, 21 सितंबर 2019 (आईएएनएस)। यहां जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले में शहर कोतवाल सहित दो पुलिस अफसरों को निलंबित कर दिया...

पीकेएल-7 : 100वें मैच में गुजरात और जयपुर ने खेला टाई

जयपुर, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के सातवें सीजन के 100वें मैच में शनिवार को यहां सवाई मानसिंह स्टेडियम में जयपुर पिंक...

विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप : दीपक के पास स्वर्णिम अवसर, राहुल की नजरें कांसे पर (राउंडअप)

नूर-सुल्तान (कजाकिस्तान), 21 सितम्बर (आईएएनएस)। भारत के युवा पहलवान दीपक पुनिया ने शनिवार को यहां जारी विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप के 86 किलोग्राम भारवर्ग के...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -