नेपाली पर्वतरोही ने 23 वीं बार की माउंट एवेरेस्ट की चढ़ाई, बनाया रिकॉर्ड

कामी रीता शेरपा

नेपाल के 49 वर्षीय कामी रीता शेरपा ने 23 वीं बार माऊंट एवेरेस्ट की चढ़ाई की है और विश्व की सबसे उच्च चोटी पर चढ़ने का खुद का ही रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिया है और एक नया रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज किया है। द हिमालयन टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, कामी रीता शेरपा ने बीते वर्ष 22 वीं दफा माउंट एवेरेस्ट फतह कर अपने नाम रिकॉर्ड दर्ज किया था। बुधवार की सुबह वह अपने सहयोगियों के साथ 8850 मीटर के ऊँचे शिखर पर पंहुचे हैं।

अखबार ने ट्रैक्स कंपनी के अध्यक्ष मिन्ग्मा शेरपा के हवाले से कहा कि “कामी रीता शेरपा ने नेपाल का प्रतिनिधित्व करते हुए बुधवार को सुबह 7.50 पर माउंट एवेरेस्ट की चढ़ाई कर विश्व की सबसे ऊँची चोटी पर चढ़कर अपने ही कायम किये रिकॉर्ड को ध्वस्त किया है।

उन्होंने कहा कि “मैं विश्व रिकॉर्ड के लिए चढ़ाई नहीं करता हूँ, मैं सिर्फ कार्य करता है। मुझे इसका अंदाजा भी नहीं था कि आपने शुरू में ही रिकॉर्ड सेट कर दिए हैं।”

नेपाल पर्वतरोहण विभाग के पूर्व अध्यक्ष आंग त्शेरिंग शेरपा ने कहा कि “विदेशी पर्वतरोहियों के लिए बिना शेरपा की मदद से पर्वतो पर चढ़ना असंभव है। वह नेपाल के पर्वतरोहण के लिए महत्वपूर्ण है और इस उद्योग को चलाने के लिए भारी जोखिम उठाते हैं।”

नेपाल के एक अन्य अखबार दैनिक माई रिपब्लिक ने रिपोर्ट प्रकाशित कर बताया कि वह माउंट एवेरेस्ट पर साल 1994 से चढ़ाई कर रहे हैं। साल 1995 में वह इस चोटी की यात्रा को अधूरा छोड़कर वापस आ गए थे क्योंकि उनके सहयोगी की काफी तबियत खराब हो गयी थी।

साल 2017 मे कामी 21 वीं बार माउंट एवेरेस्ट पर सबसे ज्यादा चढ़ने वाले व्यक्ति बने थे। साथ ही रिटायर्ड होने से पूर्व अपा शेरपा और फुरबा ताशी शेरपा यह उपलब्धि हासिल की थी। कामी ने साल 2018 में सबसे ज्यादा बार माउंट एवेरेस्ट पर चढ़ने का रिकॉर्ड कायम किया था।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here