अमेरिकी संसद में पहली भारतीय हिन्दू तुलसी गबार्ड लड़ेंगी 2020 का राष्ट्रपति चुनाव

अमेरिकी सांसद तुलसी गबार्ड

अमेरिकी कांग्रेस की पहली हिन्दू सांसद तुलसी गबार्ड ने साल 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में खुद की दावेदारी पेश कर दी है। 37 वर्षीय तुलसी गबार्ड डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से दूसरी महिला दावेदार है, इससे पहले सांसद एलिज़ाबेथ वारेन में राष्ट्रपति चुनाव में अपनी दावेदारी का ऐलान किया था।

डेमोक्रेट्स की तरफ से कैलोफोर्निया की कमला हैरिस सहित 12 डेमोक्रेटिक सांसद साल 2020 में आयोजित राष्ट्रपति चुनाव में भाग लेने का अधिकारिक ऐलान कर सकते हैं। तुलसी गबार्ड ने शुक्रवार को कहा कि “मैंने इस प्रतिस्पर्धा में भाग लेने का निर्णय लिया है और इसकी घोषणा आगामी हफ़्तों में की जाएगी।”

हवाई से चार बार की डेमोक्रेटिक सांसद ने पहली बार संकेत दिए कि वह आगामी राष्ट्रपति चुनावों की रेस में हिस्सा लेंगी। अगर वह राष्ट्रपति चुनावों का ऐलान कर देती हैं तो वह अमेरिका से राष्ट्रपति चुनावों में दावेदारी पेश करने वाली पहली हिन्दू महिला होंगी। यदि उनका चयन राष्ट्रपति पद के लिए हो जाता है तो वह अमेरिका की सबसे युवा और पहली महिला राष्ट्रपति होंगी।

साल 2016 में डेमोक्रेटिक के दावेदार को डोनाल्ड ट्रम्प के सामने खड़ा होना था, तुलसी उस समय बर्नी सांडर्स के समर्थन में थी और राज्य सचिव हिलारी क्लिंटन के खिलाफ थी। उन्होंने कहा कि अमेरिकी जनता कई चुनौतियों से जूझ रही है, जिनको लेकर मैं चिंतित हूँ और मैं उन समस्याओं का समाधान केरना चाहती हूँ।

उन्होंने कहा कि एक महत्वपूर्ण मसला सभी मसलों से बड़ा है और वह जंग और शांति है। साल 2020 की चुनावी जंग में कूदने की इच्छा पूर्व उपराष्ट्रपति जोए बिडेन ने भी दिखाई है। इसके आलावा डेमोक्रेट्स से सांसद एलिज़ाबेथ वारेन, किर्स्टेन गिल्लिब्रंड, एमी क्लोबुचार, टीम कैने और भारतीय अमेरिकी कमला हैरिस के शामिल होने की संभावनाएं हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here