तालिबान और अफगानिस्तान के बीच सीजफायर का हो ऐलान: अमेरिकी राजदूत जलमय ख़लीलज़ाद

जलमय ख़लीलज़ाद

अमेरिका के विशेष राजदूत जलमय ख़लीलज़ाद ने युद्ध से जूझ रहे देश अफगानिस्तान में हताहत से तत्काल बचने के लिए अफगान सरकार और तालिबान के बीच संघर्षविराम लगाने की घोषणा करने की मांग की है। अमेरिकी राजदूत ने ट्वीट कर कहा कि “सीजफायर पर सहमति ही तत्काल हताहत से बचा सकती है। तालिबान के आला नेतृत्व को अपने प्रतिनिधियों को सामने आकर और चर्चा करने की अनुमति देनी चाहिए।”

उन्होंने कहा कि “अमेरिका ने शान्ति वार्ता में इसलिए प्रवेश किया क्योंकि अंधाधुंध जंग कोई हल नहीं है। बातचीत के दौरान मैंने हिंसा को कम करने के मार्ग प्रस्तावित किये थे। हत्याओं का अंत करने के लिए हमारे साथ कार्य करने को इंकार कर, तालिबान समय को बढ़ा रहा है। अफगान जनता को तय करने दीजिये कि तालिबान के हिंसा को  भड़काने के भड़काऊ बयान ही आगे बढ़ने का मार्ग है या नहीं।”

जलमय ख़लीलज़ाद ने कहा कि “अफगानिस्तान दशकों की जंग की आग में जल रहा है। हज़ारो माजूम नागरिकों ने अपनी जान गंवाई है। जंग के एक नए मौसम की शुरुआत करने की बजाये अफगानी जनता आगे बढ़ने के नए मार्ग की मांग कर रही है।”

तालिबान ने शुक्रवार को अफगानिस्तान के शीरज़द जिले में हमला किया था। तालिबान के साथ जंग को खत्म करने के लिए अमेरिकी विशेष प्रतिनिधि ने पांच चरणों की वार्ता कर ली है।

जलमय ख़लीलज़ाद ने ट्वीट कर कहा कि “तालिबान का संघर्ष अभियान की शुरुआत का बयान गैर जिम्मेदाराना है। सरकार ने सुरक्षा योजना का ऐलान किया है इसलिए हिंसा को बढ़ाना एक गैर जिम्मेदाराना सुझाव है। अफगानी जनता ने स्पष्ट तौर पर शान्ति की हिमायत की है।”

तालिबान ने बयान में कहा था कि “फ़तेह अभियान की शुरआत होगी जो पूरे अफगानिस्तान में संचालित किया जायेगा जिसका मकसद आधिपत्य को जड़ से खत्म करना और मुस्लिम राष्ट्र में भ्रष्टाचार व आक्रमण का सफाया करना है।” एक वर्ष में अफगानिस्तान में शान्ति की स्थापना की भरसक कोशिश करने वाले अमेरिका के लिए यह बेहद बड़ा झटका है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here