मंगलवार, नवम्बर 19, 2019

बढ़ रहा जल संकट, केंद्र की पेयजल योजना अधूरी : रिपोर्ट

Must Read

राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू की सांसदों से अपील संसदीय प्रवर समिति की बैठक में शामिल हो

पिछले हफ्ते वायु प्रदूषण पर महत्वपूर्ण बैठक में विभिन्न सांसदों के गैरहाजिर होने की वजह से बैठक स्थगित होने...

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन से दिए क्रिकेट को अलविदा कहने के संकेत

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने सोमवार को कहा है पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जाने...

इलेक्टोरल बांड को लेकर प्रियंका गांधी का भाजपा सरकार पर हमला, कहा आरबीआई को दरकिनार कर मंजूरी दी गई

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को इलेक्टोरल बांड का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि इन्हें भारतीय रिजर्व...
पंकज सिंह चौहान
पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

नई दिल्ली, 12 जुलाई (आईएएनएस): भारत अपने इतिहास के सबसे खराब जल संकट से जूझ रहा है। राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना (एनआरडीडब्ल्यूपी) की नई रिपोर्ट में खामियों पर प्रकाश डाला गया है। रिपोर्ट में अधूरे और छोड़े गए कामों के कई उदाहरण दिए गए हैं, जोकि ‘अप्रभावी’ परियोजना का प्रस्तुतीकरण कर रहे हैं।

वित्त वर्ष 2016 से ही एनआरडीडब्ल्यूपी के लिए आवंटन कम हो गया, क्योंकि सरकार का ध्यान स्वच्छता कवरेज बढ़ाने पर था। इसके परिणामस्वरूप अधूरे छोड़ दिए गए कार्यो के कई उदाहरण हैं।

जेएम फाइनेंशियल की रिपोर्ट में कहा गया है, “ऑपरेशन और मैनेजमेंट प्लान की कमी के कारण कई राज्यों के गांवों में पेजयल योजनाएं प्रभावहीन हो गईं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि कार्यक्रम के तहत 2017 तक गांवों के 50 फीसदी घरों में पीने का पानी उपलब्ध कराना था जिसमें 35 फीसदी घरों में कनेक्शन के जरिए पानी पहुंचाया जाना था। मगर 2017 तक महज 17 फीसदी ग्रामीण परिवारों को ही पीने योग्य पानी या पाइपलाइन से पानी का कनेक्शन मिल सका।

जेएम फाइनेंशियल रिपोर्ट में कहा गया है कि नियंत्रक एवं महा-लेखापरीक्षक (सीएजी) की 2012-17 की रिपोर्ट में कई चुनौतियों को प्रदर्शित किया है। रिपोर्ट में अप्रभावी निगरानी, जल स्रोतों के नियोजन की कमी और सामुदायिक भागीदारी की कमी सहित कार्यक्रम के निष्पादन में कई चुनौतियों पर प्रकाश डाला गया है।

नीति आयोग की एक रिपोर्ट ने पहले ही इस संकट को उजागर किया था, जिसमें 2030 तक देश में पानी की मांग दोगुनी होने का अनुमान है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू की सांसदों से अपील संसदीय प्रवर समिति की बैठक में शामिल हो

पिछले हफ्ते वायु प्रदूषण पर महत्वपूर्ण बैठक में विभिन्न सांसदों के गैरहाजिर होने की वजह से बैठक स्थगित होने...

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन से दिए क्रिकेट को अलविदा कहने के संकेत

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने सोमवार को कहा है पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जाने वाली टेस्ट सीरीज के बाद...

इलेक्टोरल बांड को लेकर प्रियंका गांधी का भाजपा सरकार पर हमला, कहा आरबीआई को दरकिनार कर मंजूरी दी गई

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को इलेक्टोरल बांड का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि इन्हें भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को दरकिनार करते...

मोइन अली ने कहा, आईपीएल जीतने के लिए आरसीबी नहीं रह सकती विराट कोहली और डिविलियर्स के भरोसे

इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी मोइन अली उन दो विदेशी खिलाड़ियों में से हैं जिन्हें रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी...

श्रीलंका राष्ट्रपति चुनाव: गोटाबाया राजपक्षे की जीत पर पाकिस्तान के राजनैतिक गलियारों में खुशी, भारत के लिए झटका

श्रीलंका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में गोटाबाया राजपक्षे की जीत पर पाकिस्तान के राजनैतिक गलियारों में खुशी जताई जा रही है। मीडिया में...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -