शनिवार, दिसम्बर 7, 2019

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या की जांच अब करेगा संयुक्त राष्ट्र

Must Read

आक्रामक क्रिकेट खेलो लेकिन प्रतिद्वंद्वी का भी सम्मान करो : विराट कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि खिलाड़ियों के लिए यह जरूरी है कि वे आक्रामक क्रिकेट खेलें,...

हैदराबाद मुठभेड़ : मामले की जांच करने हैदराबाद पहुंची एनएचआरसी टीम

हैदराबाद में महिला पशुचिकित्सक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के सभी चार आरोपी शुक्रवार तड़के पुलिस के...

मल्लिका शेरावत की जीवनी

मल्लिका शेरावत भारतीय फिल्मो की अभिनेता हैं। मल्लिका ने हिंदी फिल्मो के साथ अपना डेब्यू अंग्रेजी और चाइनीस फिल्मो...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या को चार माह से अधिक समय हो चुका है। यूएन के विशेष दूत एग्नेस कॉलमार्ड सोमवार को मर्डर की जांच करने के लिए इस्तांबुल जाएंगे। 59 वर्षीय पत्रकार की हत्या 2 अक्टूबर को तुर्की के इस्तांबुल में स्थित सऊदी अरब के दूतवास में हुई थी। यूनिवर्सिटी ऑफ कॉलोअम्बिया के निदेशक कॉलमार्ड के साथ ब्रिटेन की बर्रीएस्टर हेलेना कैनेडी और पुर्तगाल की फॉरेंसिक पैथोलोजिस्ट नुनो विएरा होगी।

केस की समीक्षा कर लिए यह टीम तुर्की और सऊदी अरब की जांच की पड़ताल करेगी। खबर के मुताबिक टीम 28 जनवरी से 3 फरवरी तक तुर्की के दौरा करेंगे। यूएन की जांच टीम में शामिल हेलेना कैनेडी प्रसिद्ध वकील है और वह लॉर्ड्स हाउस के सदस्य है। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुएट्रेस ने बीते हफ्ते कहा था कि जमाल खशोगी की हत्या की जांच करने का अधिकार उनके पास नही है और किसी देश की तरफ से अभी कोई आधिकारिक अपील भी नही की गई है।

वैश्विक समुदाय के दबाव के बाद सऊदी अरब के शासन ने 22 अधिकारियों पर प्रतिबंध लगा दिया था। एमनेस्टी इंटरनेशनल, मानवधिकार समूह और अन्य समूह स्वतंत्र अंतर्राष्ट्रीय जांच की मांग कर रहा था।

अमेरिका की सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी के रिपोर्ट जारी कर बताया कि पत्रकार जमाल खशोज्जी की हत्या के पीछे सऊदी अरब के ताकतवर सलमान बिन का हाथ है। द वांशिगटन पोस्ट ने स्टोरी कर बताया कि 15 सऊदी अरब के एजेंट तुर्की स्थित सऊदी दूतावास में पत्रकार की हत्या करने के लिए आये थे। हालांकि सीआईए ने इन आरोपों को खारिज किया है।

पत्रकार जमाल खसोज्जी अपनी तुर्की की मंगेतर से शादी करने के लिए दूतावास में आये थे। सऊदी अरब के दूतावास में पत्रकार को हत्या की गई और शव लापता कर दिया गया था। रियाद ने शुरुआत में इसकी सूचना होने से इनकार कर दिया था हालांकि बाद मे प्रिंस सलमान बिन ने गुनाह को कबूल करते हुए कहा कि पूछताछ के दौरान पत्रकार को हत्या की गई थी।

सऊदी अरब के बादशाह और क्राउन प्रिंस के इस हत्या में शामिल होने के आरोपों को नकारते हुए डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि शायद विश्व उन्हें इस क़त्ल का गुनागार मानता हो, क्योंकि यह दुनिया बेहद दोषपूर्ण स्थान है। आलाचकों ने डोनाल्ड ट्रम्प के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि वह मानव अधिकार को नज़रंदाज़ कर, सऊदी अरब को आर्थिक कारणों से क्लीन चिट दे रहे हैं। ताकि वह तेल बाज़ार पर अपना प्रभुत्व कायम कर सके।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

आक्रामक क्रिकेट खेलो लेकिन प्रतिद्वंद्वी का भी सम्मान करो : विराट कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि खिलाड़ियों के लिए यह जरूरी है कि वे आक्रामक क्रिकेट खेलें,...

हैदराबाद मुठभेड़ : मामले की जांच करने हैदराबाद पहुंची एनएचआरसी टीम

हैदराबाद में महिला पशुचिकित्सक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के सभी चार आरोपी शुक्रवार तड़के पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में मारे...

मल्लिका शेरावत की जीवनी

मल्लिका शेरावत भारतीय फिल्मो की अभिनेता हैं। मल्लिका ने हिंदी फिल्मो के साथ अपना डेब्यू अंग्रेजी और चाइनीस फिल्मो में भी कर लिया है।...

हैदराबाद मुठभेड़ : मृतक आरोपियों के अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को करना होगा इंतजार

हैदराबाद की पशु चिकित्सक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म और उसकी हत्या के आरोपियों का अंतिम संस्कार करने के लिए उनके परिजनों को लंबा...

लव स्टोरी के लिए बनेगी दीपिका पादुकोण और सिद्धांत चतुर्वेदी की जोड़ी

'गली बॉय' से लोगो के दिलो में बसने वाले सिद्धांत चतुर्वेदी बहुत जल्द दीपिका पादुकोण के साथ रोमांस करने वाले हैं। मुंबई मिरर की...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -