छींक लाने के 10 आसान उपाय और छींक के फायदे

छींक लाने के 10 लाभदायक उपाय

आपने अक्सर ये देखा होगा कि छींक आने के कारण आप हल्का महसूस करते हैं लेकिन यदि छींक अटक जाए और आपकी लाख कोशिशों के बाद भी न आये तो आप असहज महसूस करने लगते हैं।

छींक के फायदे

छींक के फायदे अनेक हैं। यह श्वास नली को साफ़ करती है और नाक में मौजूद गंदगी को साफ़ करनें में मदद करती है।

  • छींक के फायदे शरीर के लिए

छींक आने से हमारी नाक और उससे जुड़े हिस्से में मौजूद बैक्टीरिया और अन्य जीवाणु बाहर निकल जाते हैं।

जब कोई चीज हमारी नाक में जाती है, तो नाक की दीवारें इसकी सुचना दिमाग तक पहुंचाती हैं। इसके बाद दिमाग हमारी आँखें, गले और मुंह को बंद करने का आदेश देता है।

इसके बाद छाती की मान्पेसियाँ फूलती हैं और गले की मान्पेसियाँ आराम करती हैं। इसी प्रक्रिया के दौरान गले में बनी हवा हमारी नाक और मुंह के जरिये तेजी से बाहर निकलती है, जिसे छींक कहते हैं।

  • छींक के फायदे दिमाग के लिए

ऐसा भी कहा जाता है कि छींक आने से दिमाग को भी फायदा होता है।

दरअसल जब हम छींकते हैं, तो थोड़ी देर के लिए हमारी नाक और गला काफी आरामदायक महसूस करते हैं। इसी दौरान दिमाग में एक हार्मोन बनता है, जो दिमाग को अच्छा महसूस कराता है।

इसी कारण से कई लोग जबरदस्ती नाक में कुछ डालकर छींक लाने का प्रयास करते हैं।

इस असहजता से छुटकारा दिलाने के लिए आइये आपको बताते हैं कुछ ऐसे उपाय, जिनसे आपको आसानी से छींक आ सकती है।

छींक लाने के उपाय

  • छींक लाने के लिए चॉकलेट का सेवन करें

स्वादिष्ट तरीके से अपनी परेशानी को दूर करने का यह सबसे अच्छा तरीका होता है। कोई भी डार्क चॉकलेट या अत्यधिक कोको युक्त चॉकलेट खाएं और आपकी अटकी हुई छींक तुरंत बाहर आ जाएगी।

जो लोग अधिक चॉकलेट नही खाते हैं उनको यह तरीका अपनाने से अधिक फायदा होगा बजाय उनके जो बहुत चॉकलेट का सेवन करते हैं। ऐसे में छींक न आने की समस्या में आप इसका सेवन कर सकते हैं।

क्यों फायदेमंद है?

हालांकि, चॉकलेट छींकने में क्यों लाभकारी होता है, इसका कारण अभी भी सिद्ध नहीं हुआ है। लेकिन ऐसा माना जाता है कि ये आपके शरीर में आने वाले बाहरी तत्व के प्रति प्रतिक्रिया करता है और उन्हें छींक के जरिये हटाने में मदद करती है

  • छींक आने के लिए चुइंग गम खाएं

ऐसी गम्स जिनमें मिंट नहीं होता है, उनका सेवन करने से भी छींक आ सकती है। तेज़ मिंट को खा लेने से ही छींक आपके शरीर में उत्पादित होती है।

क्यों फायदेमंद है?

मिंट के स्वाद के साथ साँस लेने से प्रेरित छींक त्रिधारा तंत्रिका के करीब किसी भी तंत्रिका के अतिउत्तेजित होने का परिणाम होता है। और त्रिधारा तंत्रिका के ट्रिगर होने से ही छींक आती है।

  • नाक का एक बाल खींच दें

नाक का बाल तोड़ने के बारे में सोचने से ही हमें नाक में खुजली होने लगती है। यही कारण है कि यदि आप कभी छींक न पा रहे हैं तो अपनी नाक का एक बाल तोड़ दें जिससे आपकी अटकी हुई छींक बाहर आ जाएगी। छींक लाने के उपायों में सबसे असरदार यही माना जाता है।

क्यों फायदेमंद है?

नाक का बाल खींचने से आपकी त्रिधारा तंत्रिका उत्तेजित हो जाती है जिससे आपको छींक आती है। इस कारण के चलते आप अपनी आईब्रो का बाल भी खींच सकते हैं।

  • छींक के लिए बहुत तेज़ परफ्यूम सूंघ लें

हमने अक्सर देखा है कि अत्यधिक तेज़ परफ्यूम के संपर्क में आने से हमें छींक आ जाती है या नाक में खुजली होने लगती है। अपनी अटकी हुई छींक को बाहर निकालने के लिए अपने आस पास तेज़ परफ्यूम को स्प्रे कर लें।

यह एक असरदार छींक लाने का तरीका है।

क्यों फायदेमंद हैं?

जब परफ्यूम की बूँदें आपकी नाक तक पहुँचती हैं तो ये आपकी त्रिधारा तंत्रिका को उत्तेजित कर देती हैं जिससे आपको छींक आ जाती है।

  • ठंडी हवा में सांस लें

अधिक ठण्ड होने पर हमें ज्यादा छींक आती हैं इसलिए यदि आपको छींकना है तो अपना एयर कंडीशनर खोल लें और ठंडी हवा में सांस लें।

क्यों फायदेमंद हैं?

ठंडी हवा भी आपकी त्रिधारा यंत्रिका को उत्तेजित कर देती है जिससे आप छींकने लगते हैं।

  • छींक लाने के लिए कार्बोनेटेड पेय लें

अक्सर हम देखते हैं कि जब भी कोई कार्बोनेटेड ड्रिंक खोलते हैं तो नाक में अलग सी खुजली होने लगती है। कार्बोनेटेड ड्रिंक में से कार्बन डाइऑक्साइड लेने से या फिर इसे पी लेने से आपको छींक आ जाती है।

क्यों फायदेमंद हैं?

जब आप कार्बोनेटेड ड्रिंक खोलते हैं तो उसमें से कार्बन डाइऑक्साइड निकलकर आपकी नाक में चली जाती है जिससे आपको छींक आ जाती है।

  • धूप में रहे

भारत के लगभग 18-35% लोग धूप के कारण छींकते हैं। इसको फोटिक स्नीज़ रिफ्लेक्स कहा जाता है। इसलिए यदि आप छींकने की कगार पर है तो धूप से आपको इसमें सहायता मिल सकती है।

क्यों फायदेमंद है?

हालांकि, धूप कैसे छींकने में मदद करती है इसका कारण अभी तक पता नहीं चला है लेकिन इसे जीन से जोड़ा जाता है और इसका पैटर्न परिवार के अनुसार माना जाता है।

  • छींक आने का उपाय मिर्च सूंघना

चाहे काली मिर्च हो या सफ़ेद ये आपको छींकने में सहायता कर सकती है। जब आप इसकी थोड़ी सी मात्रा सूंघ लेते हैं तो इससे आपकी नाक में खुजली होने लगती है और छींक आ जाती है।

क्यों फायदेमंद है?

मिर्च में पेप्प्रिन नामक पदार्थ होता है जो आपकी नाक में खुजली पैदा करता है। इसके कारण आपको छींक आ जाती है जिससे आपकी नाक में घुसे हुए बाहरी तत्व बाहर आ जाते हैं।

  • टिश्यू का इस्तेमाल करें

नाक में कुछ डालने से भी आपको छींक आ सकती है। इसके लिए आप टिश्यू का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप एक टिश्यू को रोल करके अपनी नाक में डाल सकते हैं।

क्यों फायदेमंद है?

जब आप नाक में टिश्यू डालते हैं तो आपकी त्रिधारा यंत्रिका उत्तेजित हो जाती है जो मस्तिष्क को ट्रिगर कर देती है जिससे आपको छींक आती है।

  • अपने मुँह का उपरी हिस्सा रगड़ें

छींक न आने की समस्या से जूझने पर आप अपनी जीभ से मुँह का उपरी हिस्सा रब कर सकते हैं। इससे आपको छींक आ जाएगी।

क्यों फायदेमंद है?

त्रिधारा यंत्रिका आपके मुँह के ऊपरी हिस्से पर भी होती है और ये अपनी जीभ से रब करने पर ये उत्तेजित हो जाती है जिससे आपको छींक आ जाती है।

छींक न आना एक बड़ी समस्या बन जाती है। इस लेख में हमनें छींक लाने के उपाय के बारे में चर्चा की। यदि अब भी आपके मन में इससे सम्बंधित कोई सवाल है, तो आप उसे कमेंट के जरिये हमसे पूछ सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

1. एलर्जी ठीक करने के उपाय
2. पेट कम करने के उपाय
3. कमर का दर्द ठीक करने के उपाय
4. पथरी का दर्द के उपाय
5. पीरियड जल्दी लाने के उपाय
6. हिचकी रोकने के घरेलु उपाय

4 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here