चोरी और छेड़छाड़ के मामले में रेल यात्री की मदद करेगी ‘ज़ीरो एफ़आईआर’ सुविधा

भारतीय रेलवे

रेल यात्रा के दौरान सामान चोरी होना, साथी यात्रियों द्वारा गलत व्यवहार करना जैसी घटनाओं के लिए अब रेलवे रेल यात्रियों के लिए एक खास तरह की सुविधा लेकर आई है। रेलवे ने एक मोबाइल एप जारी की है, जिसके चलते अब यात्री अपने साथ होने वाली किसी भी तरह की यात्रा संबंधी परेशानी को उस एप के माध्यम से दर्ज करवा सकेंगे।

इसके लिए यात्रियों को ‘ज़ीरो एफ़आईआर’ की सुविधा उपलब्ध कारवाई गयी है। ज़ीरो एफ़आईआर का तात्पर्य है कि यदि किसी के साथ कोई घटना होती है और वो शख्स उस घटना के संदर्भ में एफ़आईआर दर्ज़ करवाना चाहता है, वो उसे इसके लिए अपने क्षेत्र के ही थाने जाने की कोई आवश्यकता नहीं है।

ज़ीरो एफ़आईआर के तहत किसी भी पुलिस स्टेशन में एफ़आईआर लिखवाई जा सकती है, बाद में एफ़आईआर उस पुलिस स्टेशन द्वारा फिर उपयुक्त स्टेशन को ट्रांसफर कर दी जाती है।

रेलवे यात्रियों द्वारा दर्ज़ की जाने वाली ज़ीरो एफ़आईआर के तहत आरपीएफ़ तत्काल रूप से इसकी जांच करेगी।

अभी इस प्रोजेक्ट को पायलट प्रोजेक्ट की तरह मध्य प्रदेश में लागू किया गया है, जहां ट्रेन में होने वाली चोरी व छेड़छाड़ की घटनाओं पर यात्री इस एप द्वारा अपनी शिकायत रेलवे सुरक्षा बल से कर सकेंगे।

इस एप के तहत शिकायत दर्ज़ करने पर न सिर्फ आरपीएफ़ मौके पर पहुंचेगी, बल्कि जीआरपी के साथ ही ट्रेन के टीटीई और कोच अटटेंडेंट भी मौके पर पहुचेंगे। इसके चलते पीड़ित को अगले स्टेशन पर रुक कर एफ़आईआर लिखवाने का इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा।

इस एप में महिलाओं के लिए पैनिक बटन भी दिया गया है, जिसका उपयोग महिलाएं अपने लिए रेल यात्रा के दौरान जरूरी परिस्थितियों में कर सकती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here