चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मध्य एशिया यात्रा ने अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में नया अध्याय जोड़ा

चीनी राष्ट्रपति शी जिंगपिंग

बीजिंग, 16 जून (आईएएनएस)| चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 12 से 16 जून तक किर्गिस्तान और ताजिकिस्तान की राजकीय यात्रा की और शांगहाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों के राज्याध्यक्ष परिषद की 19वीं बैठक और एशियाई देशों के बीच विचार विमर्श और भरोसा बढ़ाने के उपायों के बारे में पांचवें शिखर सम्मेलन सीका(सीआईसीए) में भाग लिया।

यात्रा समाप्त होने के समय चीनी स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वांग यी ने मीडिया को बताया कि शी चिनफिंग की मौजूदा यात्रा अच्छे पड़ोसी देशों की मित्रवत यात्रा है, एक साथ बेल्ट एंड रोड निर्माण की यात्रा है, शांगहाई भावना के प्रचार प्रसार की यात्रा है और एशियाई सहयोग के मार्गदर्शन की यात्रा है। इसने नई तरह के अंतर्राष्ट्रीय संबंधों और मानव समुदाय के साझे भविष्य का नया अध्याय जोड़ा है।

वांग यी ने कहा कि एससीओ और सीका दोनों चीनी कूटनीति के महत्वपूर्ण मंच हैं। यात्रा के दौरान शी चिनफिंग ने साफ-साफ कहा कि बृहद एशियाई परिवार के एक सदस्य और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के जिम्मेदार बड़े देश के नाते चीन शांतिपूर्ण विकास के रास्त पर दृढ़ता से चलेगा, खुलेपन और समान जीत पर कायम रहेगा और बहुपक्षीयवाद लागू करेगा। चीन विश्व शांति का निर्माणकर्ता, वैश्विक विकास का योगदानकर्ता, अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था का सुरक्षाकर्ता बरकरार रहेगा और नई तरह वाले अंतर्राष्ट्रीय संबंधों और मानव समुदाय के साझे भविष्य के निर्माण में जुटेगा।

वांग शी ने कहा कि शी चिनफिंग की यात्रा चीन का वैश्विक साझेदारी तथा बेल्ट एंड रोड निर्माण बढ़ाने और विश्व शांति व स्थिरता बनाए रखने का महत्वपूर्ण राजनयिक कदम है। इस यात्रा ने पूर्वनिर्धारित लक्ष्य पूरा किया और भारी उपलब्धियां प्राप्त कीं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here