Mon. Oct 3rd, 2022
    किम जोंग और शी जिनपिंग

    चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा है कि कोरिया विवाद युद्ध से नहीं सुलझ सकता। उनके मुताबिक सभी देशों को शांतिपूर्ण ढंग से इस विवाद पर चर्चा करनी चाहिए और इसे सुलझाना चाहिए।

    चीन ने इससे पहले अमेरिका को भी ऐसी ही सलाह दी थी। चीन ने कहा था कि अमेरिका को किम जोंग उन को उनकी सुरक्षा का भरोसा देना होगा। चीन के मुताबिक किम जोंग को अमेरिका और दक्षिण कोरिया से खतरा है। अपने बचाव के लिए किम जोंग परमाणु हथियार इक्कठे कर रहा है।

    चीन ने कहा था कि अगर कोरिया में युद्ध होता है, तो इसका असर पुरे उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया में होगा। दोनों देशों में रह रहे करोड़ो लोगों की जान को भी खतरा है।

    जाहिर है कोरिया और अमेरिका के बीच युद्ध के आसार बने हुए हैं। किम जोंग ने हाल ही में हाइड्रोजन बम का परिक्षण कर हालत को और तनावपूर्ण बना दिया है। इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने फैसला किया है कि वे दक्षिण कोरिया और जापान को लड़ाकू हथियार देंगे।

    दक्षिण कोरिया ने हाल ही में कोरियाई सीमा के बिलकुल समीप युद्धाभ्यास किया था।

    चीन के मुताबिक वह बिलकुल भी नहीं चाहता कि किसी प्रकार का भी युद्ध हो। चीन ने कहा कि वह जर्मनी की चांसलर एंजेला मैर्केल के साथ मिलकर शांति वार्तालाप की कोशिश कर रहा है।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।