ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज के लिए भारतीय टीम से रोहित शर्मा को मिल सकता है आराम

रोहित शर्मा
bitcoin trading

भारतीय टीम को विश्वकप 2019 से पहले केवल 7 अंतरराष्ट्रीय मैच और खेलने है और यह भारतीय टीम की विश्वकप 2019 के लिए आखिरी तैयारी होगी। भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच वनडे और 2 टी-20 मैचो की सीरीज खेलनी है जो की 24 फरवरी से खेली जाएगी। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज के लिए टीम शुक्रवार 15 फरवरी से पहले मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद द्वारा चुनी जाएगी।

जैसा कि यह पता चलता है, भारत को ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के दौरे के बाद रोहित शर्मा को कम से कम आगामी श्रृंखला के लिए आराम देने की बहुत संभावना है। विराट कोहली की अनुपस्थिति में, रोहित ने टीम इंडिया के लिए कप्तानी की थी और सीरीज 4-1 से अपने नाम की थी। उसके बाद उन्होने न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज में भी टीम के लिए कप्तानी की थी। अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज में वह विराट दोबारा टीम की कप्तानी संभालते नजर आएंगे।

चयन समिति और टीम प्रबंधन एक ही पृष्ठ पर हैं जब यह कार्यभार प्रबंधन पर आता है। हाल ही में, मुख्य कोच रवि शास्त्री ने संकेत दिया था कि वह 23 मार्च से शुरू होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दौरान भी खिलाड़ियों के कार्यभार की निगरानी करेंगे।

पेसर जसप्रती बुमराह, जिन्हे ऑस्ट्रेलिया औऱ न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज से आऱाम दिया गया था वह आगामी सीरीज मे टीम के लिए वापसी करेंगे। वही आगामी सीरीज में स्पिनर के रूप में कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल टीम में शामिल होंगे।

इस बीच, भारतीय टीम के चयनकर्ता विश्वकप से पहले केएल राहुल और अजिंक्य रहाणे को टीम से एक बार और खेलने का मौका दे सकते है। यहा से यह दोनो खिलाड़ी विश्वकप में जगह बनाने के लिए चयनकर्ताओ को प्रभावित करना चाहेंगे। भारतीय टीम इस समय विश्वकप के लिए अपना तीसरा ओपनर ढूंढ रही है ऐसे में केएल राहुल और रहाणे मे से किसी को इंग्लैंड में विश्वकप खेलने का टिकट मिल सकता है। इसके लिए चयनकर्ता इन दोनो खिलाड़ियो के सभी प्रदर्शन के साथ आईपीएल की बल्लेबाजी पर नजर डालेंगे।

बीसीसीआई के एक सूत्र ने आईएएनएस को बताया कि इसके साथ ही भारत ऑस्ट्रेलिया गत विजेता को विश्व कप से पहले किसी भी तरह की गति देने से सावधान रहेगा।

” यह महत्वपूर्ण होगा कि भारत की टीम को अपना पैर पेडल पर रखना होगा और ऑस्ट्रेलिया को विश्वकप से पहले किसी भी प्रकार की गति देने से सावधान रहना होगा। अगर ऑस्ट्रेलिया इंडिया के खिलाफ अच्छी सीरीज खेलती है तो विश्वकप के लिए टीम का आत्मविश्ववास बढ़ जाएगा। इसलिए, एक संतुलन बनाना होगा ताकि टीम की रचना प्रभावित न हो।”

इस बीच, विश्वकप विजेता ऑफ- स्पिनर हरभजन सिंह ने का कहना है कि आगामी सीरीज के लिए भारत को अपने वरिष्ठ खिलाड़ियो को आराम देना चाहिए है औऱ युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ, मयंंक अग्रवाल और प्रियांक पंचाल जैसे बल्लेबाजो को मौका देना चाहिए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here