शनिवार, अक्टूबर 19, 2019

रूस की एस-400 रक्षा प्रणाली का पहला भाग हुआ डिलीवर: तुर्की

Must Read

ब्रेक्जिट समझौते पर समयसीमा बढ़ी

लंदन, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। ब्रिटेन की संसद में शनिवार को यूरोपीय संघ(ईयू) के साथ प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की सहमति...

आजम को परेशान किया जा रहा, ताकि हमारी सरकार न बने : अखिलेश

रामपुर, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यहां शनिवार को कहा कि आजम...

उप्र : स्नातक में दाखिला निरस्त होने पर छात्राएं अनशन पर बैठीं

बांदा, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में बांदा जिला मुख्यालय के पंडित जवाहरलाल नेहरू डिग्री कॉलेज में स्नातक कक्षा...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

तुर्की के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि “रूस की एस-400 रक्षा प्रणाली का पहला भाग अंकारा को शुक्रवार को डिलीवर हो चुका है।” रूस की प्रणाली को खरीदने का ऐलान तुर्की और नाटो सहयोगी अमेरिका के लिए तनाव बढ़ने का स्त्रोत हो सकता है।

अमेरिका ने तुर्की को यह कदम न उठाने की चेतावनी दी थी इससे द्विपक्षीय संबंधों में खटास आ सकती है। अमेरिका के राज्य विभाग की प्रवक्ता ने प्रतिकार में कहा रहा कि “एस 400 रक्षा प्रणाली को खरीदने के लिए अंकारा को नकारात्मक और वास्तविक परिणाम भुगतने होंगे।”

तुर्की के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि “अमेरिकी राज्य विभाग के मॉर्गन ओर्टागुस का बयान जी-20 में दोनों देशों के राष्ट्रपतियों के बीच बातचीत के तहत और अनुकूल नहीं है।” बीते महीने ओसाका में डोनाल्ड ट्रम्प और रिचप तैयप एर्दोगन ने मुलाकात की थी।

ओसाका में डोनाल्ड ट्रम्प के साथ मुलाकात के बाद तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा था कि “एस-400 खरीदने पर अंकारा पर प्रतिबन्ध थोपने का अमेरिका का कोई प्लान नहीं है।” ट्रम्प ने कहा कि “तुर्की निष्पक्षता से व्यवहार नहीं कर रहा है, प्रतिबंधों को नजरंदाज़ नहीं किया जा सकता है।”

अमेरिका  ने कहा कि “एस 400 नाटो के रक्षा नेटवर्क के अनुकूल नहीं है और वह अपने लॉकहीड मार्टिन एफ-35 स्टील्थ लडाकू विमानों के साथ समझौता कर सकते हैं।” इस एयरक्राफ्ट के निर्माण के लिए तुर्की मदद कर रहा है और खरीदने की योजना बना रहा है।

तुर्की को एफ-35 कार्यक्रम से वास्ता खत्म करना पड़ सकता है और अन्य अमेरिका प्रतिबन्ध थोप जा सकते हैं। वांशिगटन ने पहले ही अमेरिका में प्रशिक्षण ले रहे तुर्की पायलटो को वापस भेज दिया है।

एर्डोगन ने इस माह के शुरुआत में कहा था कि “रूस के साथ समझौता हो चुका है और अब इसमे कोई बदलाव नहीं होगा। एस-400 के समझौते से पलटने का कोई सवाल ही पैदा ही नहीं होता है। यह समझौते हो चुका है। तुर्की और रूस मिलकर एस-500 रक्षा प्रणालियों का उत्पादन करेंगे।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

ब्रेक्जिट समझौते पर समयसीमा बढ़ी

लंदन, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। ब्रिटेन की संसद में शनिवार को यूरोपीय संघ(ईयू) के साथ प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की सहमति...

आजम को परेशान किया जा रहा, ताकि हमारी सरकार न बने : अखिलेश

रामपुर, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यहां शनिवार को कहा कि आजम खां को इसलिए परेशान किया...

उप्र : स्नातक में दाखिला निरस्त होने पर छात्राएं अनशन पर बैठीं

बांदा, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में बांदा जिला मुख्यालय के पंडित जवाहरलाल नेहरू डिग्री कॉलेज में स्नातक कक्षा का दखिला निरस्त होने से...

एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन में सभी की नजरें बोनस ईनामी राशि पर

नई दिल्ली, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। शीर्ष भारतीय एथलीटों सुरेश कुमार पटेल, श्रीनु बुगटा, प्रदीप चौधरी पुरुषों में जबकि कोर्स रिकॉर्ड धारी एल. सूर्या, पारुल...

कमलेश तिवारी हत्याकांड में किसी को बख्शा नहीं जाएगा : योगी

लखनऊ,19 अक्टूबर (आईएएनएस)। हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या मामले पर शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जो भी...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -