मंगलवार, सितम्बर 17, 2019

उत्तर कोरिया ने साल 2018 में भी परमाणु हथियार कार्यक्रम जारी रखने का किया ऐलान

Must Read

सोलोमन द्वीप ने थाईवान के बदले चीन संग राजनयिक संबंध स्थापित किए : ह्वा छुनइंग

बीजिंग, 17 सितम्बर (आईएएनएस)। चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ह्वा छुनइंग ने 16 सितंबर को इस बात पर संवाददाताओं...

अंतर्राष्ट्रीय ओजोन परत संरक्षण स्मारक बैठक आयोजित

बीजिंग, 17 सितम्बर (आईएएनएस)। 2019 अंतर्राष्ट्रीय ओजोन परत संरक्षण स्मारक बैठक 16 सितंबर को चीन के शानतोंग प्रांत के...

बिहार के एक गांव में भगवान की तरह पूजे जाते हैं मोदी

कटिहार, 17 सितंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके 69वें जन्मदिन पर देश और विदेश से शुभकामना संदेश तो...

उत्तर कोरिया ने कहा है कि वो परमाणु हथियार व बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण अब अगले साल 2018 में भी जारी रहेगा। उत्तर कोरिया की समाचार एजेंसी ने शनिवार को कहा कि प्योंगयांग अपने परमाणु कार्यक्रम का विकास लगातार जारी रखेगा। आने वाले समय में उत्तर कोरिया ने खुद को अजेय परमाणु शक्ति सम्पन्न राष्ट्र बनने वाला बताया है।

सरकारी समाचार एजेंसी में बताया गया कि उत्तर कोरिया अपनी सभी बाधाओं को पार करते हुए जिम्मेदार परमाणु शक्ति राष्ट्र के रूप में स्वतंत्रता के रास्ते को अपनाएगा।

रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि उत्तर कोरिया परमाणु संबंधी किसी नीति में कोई बदलाव नहीं करने वाला है। उत्तर कोरिया ने कहा कि जब तक उसे अमेरिका व अन्य देशों द्वारा धमकी दी जाती रहेगी वो अपनी आत्म-रक्षा व क्षमताओं को अधिक मजबूत करने का प्रयत्न करता रहेगा।

रिपोर्ट में बताया गया कि 28 नवंबर को किए गए इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल हवासोंग-15 से उत्तर कोरिया अत्याधुनिक बन चुका है। साथ ही हवासोंग-15 मिसाइल अमेरिका तक पहुंच रखने में भी सक्षम है।

रिपोर्ट में उत्तर कोरिया को “विश्व स्तरीय परमाणु शक्ति” का दर्जा दिया गया है। अमेरिका के क्रूर घोषणापत्रों का मुकाबला निश्चित तौर पर परमाणु परीक्षणों के जरिए दिया जाएगा।

साल 2017 में अपनी उपलब्धियों को बताया

इन रिपोर्टों को देखने से पता चलता है कि उत्तर कोरिया ने साल 2017 में अपनी उपलब्धियों का बखान किया है। साथ ही अगले साल भी परमाणु हथियारों का परीक्षण करने की चेतावनी दी है।

संयुक्त राष्ट्र ने हाल ही में उत्तर कोरिया के ऊपर तेल प्रतिबंध भी लगाया है। लेकिन लगता है कि उत्तर कोरिया को किसी भी प्रतिबंधों से कोई फर्क नहीं पड़ता है।

उत्तर कोरिया ने कहा कि इन प्रतिबंधों से युद्ध भड़क सकता है और कोरियाई प्रायद्वीप पर अशांति व अस्थिरता हो सकती है। उत्तर कोरिया बार-बार कह रहा है कि वो आत्म-रक्षा के लिए परमाणु प्रतिरोध को मजबूत करना चाहता है। अब देखना है कि अगले साल 2018 में उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षणों से किस तरह के परिणाम सामने आएंगे।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

सोलोमन द्वीप ने थाईवान के बदले चीन संग राजनयिक संबंध स्थापित किए : ह्वा छुनइंग

बीजिंग, 17 सितम्बर (आईएएनएस)। चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ह्वा छुनइंग ने 16 सितंबर को इस बात पर संवाददाताओं...

अंतर्राष्ट्रीय ओजोन परत संरक्षण स्मारक बैठक आयोजित

बीजिंग, 17 सितम्बर (आईएएनएस)। 2019 अंतर्राष्ट्रीय ओजोन परत संरक्षण स्मारक बैठक 16 सितंबर को चीन के शानतोंग प्रांत के चिनान शहर में आयोजित हुई।...

बिहार के एक गांव में भगवान की तरह पूजे जाते हैं मोदी

कटिहार, 17 सितंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके 69वें जन्मदिन पर देश और विदेश से शुभकामना संदेश तो मिल ही रहे हैं, उनके...

मोदी के जन्मदिन के शोर में दब गई सरदार सरोवर प्रभावितों की आवाज : मेधा

भोपाल, 17 सितंबर (आईएएनएस)। नर्मदा बचाओ आंदोलन की अगुवा मेधा पाटकर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके समर्थकों पर बड़ा हमला बोला है, उनका...

सऊदी में तेल संयंत्रों पर हमले का भारतीय अर्थव्यस्था पर पड़ सकता है असर

नई दिल्ली, 17 सितंबर (आईएएनएस)। यमन के ईरान समर्थित विद्रोही समूह हौती ने शनिवार को सऊदी अरब के अबक्विक संयंत्र और खुरियास तेल क्षेत्र...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -