उत्तर कोरिया फिर कर रहा परमाणु हथियारों का निर्माण: अमेरिका

उत्तर कोरिया की परमाणु साइट

उत्तर कोरिया की प्रमुख परमणु साइट पर गतिविधि का मालूम लगाया गया है। अमेरिकी मॉनिटर ने बुधवार कहा कि पियोंयांग ने शायद बम फ्यूल में रेडियोएक्टिव मटेरियल की पुनर्प्रक्रिया को शुरू कर दिया है क्योंकि अमेरिका और उत्तर कोरिया की दूसरी बैठक अचानक रद्द हो गयी थी।”

फरवरी में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के बीच दूसरी मुलाकात बगैर किसी समझौते या संयुक्त बयान के रद्द हो गयी थी। इसके बाद किम जोंग उन ने कहा कि “वह अमेरिका के साथ तीसरी मुलाकत के लिए तैयार है अगर अमेरिका अपने रवैये में परिवर्तन कर बातचीत करें।”

द सेंटर फॉर स्ट्रेटेजिक एंड इंटरनेशनल स्टडीज ने कहा कि “योंगब्योन परमाणु साइट की 12 अप्रैल की सैटेलाइट तस्वीर के मुताबिक यूरेनियम प्रचुर सुविधा और रेडियो केमिस्ट्री लेबोरेटरी के नजदीक पांच रेलकार्स थे। इन रेलकार्स  का दिखना रेडियो एक्टिव मटेरियल की मूवमेंट और पुनर्प्रक्रिया अभियान की तरफ इशारा करता है।

उत्तर कोरिया द्वारा प्रस्तावित आंशिक समझौते योंगब्योन काम्प्लेक्स को ध्वस्त करने का प्रस्ताव दिया था जिसे अमेरिकी राष्ट्रपति ने ठुकरा दिया था। यह साइट पियोंगयांग से करीब 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और देश की पहले न्यूक्लियर रिएक्टर का घर है। उत्तर कोरिया के हथियार कार्यक्रम के लिए यह एकमात्र प्लूटोनियम का स्त्रोत है।

साल 2018 में कूटनीतिक प्रक्रिया की शुरुआत के साथ ही उत्तर कोरिया ने परमाणु और मिसाइल परिक्षण बंद कर दिया था लेकिन इंटरनेशनल एटॉमिक एनर्जी के ने कहा कि “फरवरी के अंत से योंगब्योन में हलचल के संकेत मिल रहे हैं।” योंगब्योन देश का एकमात्र यूरेनियम प्रचुर क्षेत्र नहीं है सिर्फ इसके बंद हो जाने से देश में परमाणु कार्यक्रम का अंत नहीं हो जायेगा।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने गुरूवार को कहा कि “वह उत्तर कोरिया पर प्रतिबन्ध बनाये रखना चाहते हैं जब तक किम जोंग उन परमाणु निरस्त्रीकरण की वार्ता वापस पटरी पर नहीं आ जाती है।” हाल ही अमेरिका ने उत्तर कोरिया के तीन अधिकारीयों और दो चीनी कंपनियों पर प्रतिबन्ध थोप दिए थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here