गुरूवार, नवम्बर 14, 2019

ईरान से तनाव के चलते मध्य पूर्व जल क्षेत्र पर अमेरिका बढ़ाएगा निगरानी

Must Read

दूरदर्शन दिखाएगा संघ के सेवा कार्य, समर्पण का प्रसारण हर ह़फ्ते (आईएएनएस विशेष)

नई दिल्ली, 14 नवंबर ( आईएएनएस)। केंद्र सरकार का टेलीविजन चैनल दूरदर्शन अब यह दिखाएगा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ...

मप्र में बाल विवाह के खिलाफ लड़ेगी बाल और युवा पीढ़ी

भोपाल, 14 नवंबर (आईएएनएस)। समाज की कुरीतियों में सबसे प्रमुख बाल विवाह है, क्योंकि इसके चलते जिंदगी पहाड़ बन...

दुबई के मेगा शो का हिस्सा बनेंगे मोहनलाल, प्रियदर्शन और उनके करीबी

तिरुवनंतपुरम, 14 नवंबर (आईएएनएस)। सुपरस्टार मोहनलाल अपने करीबी दोस्त व फिल्मकार प्रियदर्शन, प्रोड्यूसर सुरेशकुमार, पाश्र्वगायक एमजीश्रीकुमार के साथ 22...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

अमेरिका ने शुक्रवार को ऐलान किया कि अमेरिकी सेंट्रल कमांड अपनी बहुराष्ट्रीय समुंद्री इलाको में निगरानी और सुरक्षा को बढाने के प्रयास कर रहा है, यह मध्य पूर्व में महत्वपूर्ण जलमार्ग है। अमेरिका ने हाल ही में दावा किया था कि उन्होंने ईरानी ड्रोन को होर्मुज़ के जलमार्ग पर मार गिराया था, जब वह सीमा को पार कर रहा था।

ईरान ने इस दावे को ख़ारिज किया कि उनके किसी ड्रोन को मार गिराया गया है। अमेरिकी सेंट्रल कमांड ने बयान में कहा कि “वह मध्य पूर्व के मत्वपूर्ण जलमार्ग पर सुरक्षा और निगरानी को बढाने के लिए बहुराष्ट्रीय समुंद्री प्रयासों को विकसित किया जा रहा है ताकि अरब खाड़ी इलाको में नौचालन की आज़ादी को सुनिश्चित किया जा सके।

इस अभियान का लक्ष्य समुंद्री स्थिरता का प्रचार, सुरक्षित पैसेज सुनिश्चित करने और अंतरराष्ट्रीय जल पर तनाव को कम करने का प्रचार करना है। सेंटकॉम ने कहा कि “समुंद्री सुरक्षा फ्रेमवर्क राष्ट्रों के ध्वज लगे जहाजो को सुरक्षा मुहैया करेगा। अमेरिका इस पहल, योगदान और अंतरराष्ट्रीय साझेदारो का नेतृत्व को समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है।”

अमेरिकी अधिकारी यूरोप, ऐसा और मध्य पूर्व में सहयोगियों और साझेदारो से समन्वय जारी रखेगा ताकि क्षेत्र में नौचालन की आज़ादी के अभियान के लिए काबिलियत और जानकारी हासिल हो सके। पेंटागन ने शुक्रवार को सऊदी अरब में सैनिको और संसाधन की तैनाती की योजना को मंज़ूरी दी थी।

सेंटकॉम ने बताया कि “यह सैनिको की आवाजाही अतिरिक्त बचाव और इस क्षेत्र में विश्वसनीय खतरों से अपने हितो और सेनाओं का बचाव करने की सक्षमता को सुनिश्चित करेंगे। यह अभियान लोजिस्टिक नेटवर्क और ऑपरेशनल गहराई में सुधार करेगा। अमेरिका की सेंट्रल कमांड इस क्षेत्र में फाॅर्स पोस्चर का आंकलन करना जारी रखेंगे और अमेरिका की संपत्ति की को सऊदी अरब को विशेष स्थान पर रखना होगा।”

अमेरिका के राज्य सचिव माइक पोम्पियो ने उम्मीद व्यक्त की है कि “अमेरिका के साथ ईरान बातचीत के लिए तैयार हो जाए। राष्ट्रपति ने कहा कि हम बगैर किसी शर्त के बातचीत को तैयार है और बैठेंगे और आतंकी गतिविधि, मिसाइल कार्यक्रम, परमाणु कार्यक्रम के बाबत बातचीत करेंगे। मुझे उम्मीद है कि ईरान का नेतृत्व इस अवसर का इस्तेमाल कूटनीतिक हल निकालने में करेगा।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दूरदर्शन दिखाएगा संघ के सेवा कार्य, समर्पण का प्रसारण हर ह़फ्ते (आईएएनएस विशेष)

नई दिल्ली, 14 नवंबर ( आईएएनएस)। केंद्र सरकार का टेलीविजन चैनल दूरदर्शन अब यह दिखाएगा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ...

मप्र में बाल विवाह के खिलाफ लड़ेगी बाल और युवा पीढ़ी

भोपाल, 14 नवंबर (आईएएनएस)। समाज की कुरीतियों में सबसे प्रमुख बाल विवाह है, क्योंकि इसके चलते जिंदगी पहाड़ बन जाती है और जिंदगी ही...

दुबई के मेगा शो का हिस्सा बनेंगे मोहनलाल, प्रियदर्शन और उनके करीबी

तिरुवनंतपुरम, 14 नवंबर (आईएएनएस)। सुपरस्टार मोहनलाल अपने करीबी दोस्त व फिल्मकार प्रियदर्शन, प्रोड्यूसर सुरेशकुमार, पाश्र्वगायक एमजीश्रीकुमार के साथ 22 नवंबर को दुबई के एक...

उत्तर प्रदेश में आगामी तीन-चार दिनों में बढ़ेगी ठंड

लखनऊ , 14 नवम्बर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी के आस-पास के इलाकों में बादलों की आवाजाही जारी है। आगामी तीन चार दिनों में...

कुलभूषण मामले में भारत से कोई डील नहीं : पाकिस्तान

इस्लामाबाद, 14 नवंबर (आईएएनएस)। पाकिस्तान ने गुरुवार को इस बात से स्पष्ट रूप से इनकार किया है कि भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -