अमेरिका ने क्यूबा पर पर्यटन पाबन्दी और प्रतिबन्ध किया लागू

जॉन बोल्टन
bitcoin trading

अमेरिका ने बुधवार को क्यूबा पर नए प्रतिबन्ध थोप दिए हैं जिसमे लैटिन अमेरिकी देश में यात्रा की सीमा भी तय की गयी है। द वांशिगटन पोस्ट के मुताबिक यह क्यूबा की बॉर्डर पॉलिसी पर पाबन्दी और पूर्व फिदेल कास्त्रो के नेतृत्व वाली क्यूबा की सरकार की संपत्ति पर निर्वासितों को कब्ज़ा करने की अनुमति देती है।

अमेरिका में रहने वाले क्यूबा के नागरिकों को अपने रिश्तेदारों को धन भेजने की सीमा को भी तय कर दिया गया है और यह अब 1000 डॉलर प्रति व्यक्ति है। वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो को सत्ता से बेदखल करने के लिए भी प्रतिबन्ध थोपे गए थे और साथ ही क्यूबा और निकारागुआ को मादुरो सरकार को समर्थन करने के लिए सजा दी गयी है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा कि “अमेरिकी विभाग क्यूबा की यात्रा करने की पाबंदी में कुछ परिवर्तन कर सकता है। यह नए नियम अमेरिकी डॉलर को क्यूबा की सरकार से दूर रखने में मददगार होंगे”

मिआमि में सभा को सम्बोधित करते हुए जॉन बोल्टन ने कहा कि “वेनेजुएला में अधिकतर क्यूबा के नागरिक असल में सैनिक और ख़ुफ़िया विभाग के एजेंट्स हैं और मादुरो को सत्ता में बरक़रार रखने में मदद कर रहे हैं।” दिन की शुरुआत में राज्य सचिव माइक पोम्पिओ ने ऐलान किया कि “वांशिगटन अमेरिकी नागरिकों को साल 1959 क्यूबा की क्रांति के दौरान जब्त की गयी संपत्ति को विदेशी कारोबार के लिए उपलोग में लाने की अनुमति देता है।”

12 अप्रैल को अमेरिका ने वेनेजुएला की तेल कंपनी पर प्रतिबन्ध सौंपे थे साथ ही वेनेजेला का तेल लेकर क्यूबा की तरफ बढ़ रहे जहाजों और कंपनियों पर भी प्रतिबन्ध थोपे थे। यह प्रतिबन्ध अमेरिका और क्यूबा के संबंधों को प्रभावित करेंगे जो ओबामा के कार्यकाल में स्थिर थे।

जॉन बोल्टन ने कहा कि “वेनेजुएला में मादुरो की समाजवादी सरकार, क्यूबा में मिगुएल दिआज़ कनेल और निकारागुआ के डेनियल ओर्तेज़ा की सरकार के टुकड़े होना अभी शुरू हुए हैं। अब दीवारे बंद हो रही है और वापस लौटने का कोई मार्ग नहीं है। जनता की जीत होगी और हम जानते हैं क्यूबा का नंबर दूसरा है और हम प्रार्थना करते हैं कि तीसरा निकारागुआ का होगा।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here